स्वामी विवेकानन्द का शंखनाद

Rs.5.00
स्वामी विवेकानन्द का शंखनाद
Publication Year: 
1992
Edition: 
3
Format: 
Soft Cover
Pages: 
32
Volumes: 
1
VRM Book Code: 
1540
Rs.5.00

स्वामी विवेकानन्द के ऊर्जाप्रदायी वाक्यों ने सदा ही भारत एवं विश्वभर के युवामानस को प्रेरित किया है। इन वचनों की चिनगारी ने स्वतन्त्रता - पूर्व क्रान्तिज्वाला को प्रज्वलित किया था। अनेक सेवाकार्यों को उत्प्रेरणा एवं बल प्रदान करनेवाले ये सुविचार अन्तस की गहराई से उद् भूत मन्त्रों के समान पवित्र हैं । निराश मन की कर्म-प्रेरणा बननेवाले ये शब्द-स्फुल्लिंग नित्य मननीय, सदा स्मरणीय एवं पुन:-पुन: पठनीय हैं।

Share this