Biography

विवेकानंद कन्या भगिनी निवेदिता

Rs.85.00
विवेकानंद कन्या भगिनी निवेदिता
विवेकानंद कन्या भगिनी निवेदिता
Translator: 
Sangita Soman
Publication Year: 
2017
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
212
Volumes: 
1
VRM Code: 
3196
विवेकानंद कन्या भगिनी निवेदिता
विवेकानंद कन्या भगिनी निवेदिता

भगिनी निवेदिता मार्गरेट नोबल वंश से गौरी तथा जन्म से ही आयरिश थी।

स्वामी विवेकानंद की संपर्क में आने के बाद 30 वर्ष की अपनी कृपा यू मे उनका शिष्य वह ग्रहण कर भारतवर्ष पधारी। स्वामी जी ने उन्हें निवेदिता नाम दिया उसका अर्थ जीवन समर्पित निवेदित किया ऐसा है अभी देने अपने में आमूलचूल परिवर्तन कर हिंदू संस्कृति को पूर्ण मनोयोग से अपनाया तथा सन्यास व्रत की दीक्षा ली।

प्लेग के प्रादुर्भाव के समय कोलकाता के रास्ते झाड़ू से बुहारकर साफ़ किए तथा रुग्ण सेवा भी की। एक कन्या पाठशाला स्थापित कर महिला शिक्षा का भी कार्य किया। ब्रिटिश राज में क्रांतिकारियों का मार्गदर्शन कर उन्हें प्रोत्साहित किया।

Natyarup Vivekanand (नाट्यरूप विवेकानंद)

Rs.40.00
Natyarup Vivekanand (नाट्यरूप विवेकानंद)
Natyarup Vivekanand (नाट्यरूप विवेकानंद)
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Language: 
Marathi
VRM Code: 
3073
Natyarup Vivekanand (नाट्यरूप विवेकानंद)
Natyarup Vivekanand (नाट्यरूप विवेकानंद)

Shri Saradadevi Jeevan Chintan (श्रीसारदादेवी जीवनचिंतन)

Rs.60.00
Shri Saradadevi Jeevan Chintan (श्रीसारदादेवी जीवनचिंतन)
Shri Saradadevi Jeevan Chintan (श्रीसारदादेवी जीवनचिंतन)
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Language: 
Marathi
VRM Code: 
3027
Shri Saradadevi Jeevan Chintan (श्रीसारदादेवी जीवनचिंतन)
Shri Saradadevi Jeevan Chintan (श्रीसारदादेवी जीवनचिंतन)

Eknathji a Biographical Sketch

Rs.120.00
Eknathji Mission Personified
Eknathji Mission Personified
ISBN: 
81-89248-30-8
Publication Year: 
2003
Edition: 
4
Format: 
Soft Cover
Pages: 
270
Volumes: 
1
Language: 
English
VRM Code: 
1723
Publication Code: 
xyz
Eknathji Mission Personified
Eknathji Mission Personified

A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.A biography of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra.

NARAYANA GURU(நாராயண குரு)

Rs.12.00
NARAYANA GURU(நாராயண குரு)
NARAYANA GURU(நாராயண குரு)
Publication Year: 
2011
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
68
Language: 
Tamil
VRM Code: 
1931
NARAYANA GURU(நாராயண குரு)
NARAYANA GURU(நாராயண குரு)

SRINIVASA RAMANUJAN(ஸ்ரீநிவாச இராமனுஜன்)

Rs.15.00
SRINIVASA RAMANUJAN(ஸ்ரீநிவாச இராமனுஜன்)
SRINIVASA RAMANUJAN(ஸ்ரீநிவாச இராமனுஜன்)
Publication Year: 
2011
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
50
Language: 
Tamil
VRM Code: 
1929
SRINIVASA RAMANUJAN(ஸ்ரீநிவாச இராமனுஜன்)
SRINIVASA RAMANUJAN(ஸ்ரீநிவாச இராமனுஜன்)

V.O.CHIDAMBARANAR(வ.உ.சிதம்பரனார்)

Rs.15.00
V.O.CHIDAMBARANAR(வ.உ.சிதம்பரனார்)
V.O.CHIDAMBARANAR(வ.உ.சிதம்பரனார்)
Publication Year: 
2011
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
49
Language: 
Tamil
VRM Code: 
1928
V.O.CHIDAMBARANAR(வ.உ.சிதம்பரனார்)
V.O.CHIDAMBARANAR(வ.உ.சிதம்பரனார்)

SUBRAMANIYA BHARATHI(சுப்ரமணிய பாரதி)

Rs.15.00
SUBRAMANIYA BHARATHI(சுப்ரமணிய பாரதி)
SUBRAMANIYA BHARATHI(சுப்ரமணிய பாரதி)
Publication Year: 
2011
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
52
Language: 
Tamil
VRM Code: 
1927
SUBRAMANIYA BHARATHI(சுப்ரமணிய பாரதி)
SUBRAMANIYA BHARATHI(சுப்ரமணிய பாரதி)

सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में

Rs.40.00
सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में
Translator: 
Devi Datt Ramchandra Chitale
Publication Year: 
2012
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
106
Volumes: 
1
VRM Code: 
1915
सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में

वीर सावरकर में देशभक्त विद्वान् , एक समाजसुधारक, बुद्धिवादी, मानवता-वादी, दार्शनिक, इतिहासकार, अलौकिक दूरदृष्टिवाले राजनेता और असाधरण वक्ता के गुणों का दुर्लभ समन्वय था। सिद्धान्तवादी होने के साथ साथ क्रियाशील भी थे और मराठी साहित्य में तो बेजोड़ थे। वे महाकाव्य की ऊँचाई को छूने वाले कवि, प्रतिभाशाली निबन्धकार और नाटककार थे।

उन्होंने अपने लेखन मेम विज्ञानप्रणीत संस्कारों का अनुमोदन एवं अनुकरण किया। उनके कार्यक्रम तर्कसंगत बुद्धिवाद एवं कारण मीमांसा पर आधारित होते थे। परन्तु उनका ध्येय के प्रति सम्पूर्ण समर्पण एवं आत्मबलिदान की ओर आकर्षण, गहन अध्यात्म से प्रेरित थे।

एसे बने हम भी

Rs.25.00
एसे बने हम भी
Publication Year: 
2006
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
56
Volumes: 
1
VRM Code: 
3088
एसे बने हम भी

यह अत्यन्त प्रसन्नता का विषय है कि यह पुस्तक बच्चों के लिये लिखी गयी है। इस पुस्तक की विशेषता यह है की उन कार्यकर्ताओं द्वारा लिखी गयी है जो संस्कार वर्ग के माध्यम से बच्चों में परिवर्तन लाना चाहते हैं। ग्वालियर में संस्कार वर्ग लेने वाले कार्यकार्ताओं ने विचार किया कि अपने देश में युगों-युगों से ऐसे महापुरुष हुए हैं, जिन्होंने बचपन से ही उद्देश्यपूर्ण जीवन जिया, अत: उनका चरित्र लिखा जाना चाहिए।

Syndicate content