Due to migration of website currently new registration and order is stopped, we are trying our best to live by 15th October 2018.
For any query plz email to [email protected]

Biography

सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में

Rs.40.00
सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में
Translator: 
Devi Datt Ramchandra Chitale
VRM Code: 
1915
Publication Year: 
2012
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
106
Volumes: 
1
सावरकर : विवेकानन्द के परिपेक्ष्य में

वीर सावरकर में देशभक्त विद्वान् , एक समाजसुधारक, बुद्धिवादी, मानवता-वादी, दार्शनिक, इतिहासकार, अलौकिक दूरदृष्टिवाले राजनेता और असाधरण वक्ता के गुणों का दुर्लभ समन्वय था। सिद्धान्तवादी होने के साथ साथ क्रियाशील भी थे और मराठी साहित्य में तो बेजोड़ थे। वे महाकाव्य की ऊँचाई को छूने वाले कवि, प्रतिभाशाली निबन्धकार और नाटककार थे।

उन्होंने अपने लेखन मेम विज्ञानप्रणीत संस्कारों का अनुमोदन एवं अनुकरण किया। उनके कार्यक्रम तर्कसंगत बुद्धिवाद एवं कारण मीमांसा पर आधारित होते थे। परन्तु उनका ध्येय के प्रति सम्पूर्ण समर्पण एवं आत्मबलिदान की ओर आकर्षण, गहन अध्यात्म से प्रेरित थे।

एसे बने हम भी

Rs.25.00
एसे बने हम भी
VRM Code: 
3088
Publication Year: 
2006
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
56
Volumes: 
1
एसे बने हम भी

यह अत्यन्त प्रसन्नता का विषय है कि यह पुस्तक बच्चों के लिये लिखी गयी है। इस पुस्तक की विशेषता यह है की उन कार्यकर्ताओं द्वारा लिखी गयी है जो संस्कार वर्ग के माध्यम से बच्चों में परिवर्तन लाना चाहते हैं। ग्वालियर में संस्कार वर्ग लेने वाले कार्यकार्ताओं ने विचार किया कि अपने देश में युगों-युगों से ऐसे महापुरुष हुए हैं, जिन्होंने बचपन से ही उद्देश्यपूर्ण जीवन जिया, अत: उनका चरित्र लिखा जाना चाहिए।

पथदर्शिका

Rs.15.00
पथदर्शिका
पथदर्शिका
VRM Code: 
3090
Publication Year: 
2014
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
48
Volumes: 
1

कोई भी व्यक्ति कभी भी बहुत अधिक कार्य नहीं करता है और न ही वह बहुत अधिक दबाव सहन करता है। जब वह कहता है, कि उसके पास कार्याधिक्य है इसका यह आशय नहीं होता कि वह अपनी सुविधा के दायरे को लांघकर, शारीरिक रुप से या अन्यथा, प्रयासरत है। लेकिन, क्या यह सत्य नहीं है कि हर ऐसे व्यक्ति को, जो प्रगति की तीव्र उत्कण्ठा पाले हुए है, या जो निपुणता प्राप्त करना चाहता हे, या कुछ बड़ा करना चाहता है, उसे जानबूझकर सुविधा के दायरे कको लांघते हुए, कार्यधिक्य या तनाव-आधिक्य की आदत का विकास करना होता है और उस प्रक्रिया में दबाव व तनाव को सहने के लिए तत्पर होना पड़ता है। वस्तुत:, इस प्रकार थोड़ा - थोड़ा, अदिक प्रयास

ভাহত জাগৰন (Bharat Jagaran)

Rs.70.00
ভাহত জাগৰন
Translator: 
Dr. Maheswar Hazarika
VRM Code: 
1909
Publication Year: 
2012
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
162
Volumes: 
1
ভাহত জাগৰন

Rendering of Swami Vivekananda.

একনাখজী (Eknathji)

Rs.65.00
একনাখজী
Translator: 
Dr. Indira Barthakur
VRM Code: 
1911
Publication Year: 
2009
Format: 
Soft Cover
Pages: 
216
Volumes: 
1
একনাখজী

अलासिंग पेरुमल

Rs.35.00
विवेकानन्द के परम शिष्य अलासिंग पेरुमल
Translator: 
Kalyani Phadake
VRM Code: 
3022
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
92
Volumes: 
1
विवेकानन्द के परम शिष्य अलासिंग पेरुमल

अलासिंगजी एक आदर्श शिक्षक थे। वह अपने विषय को इतना अधिक सरल करके समझाते कि, कमजोर से कमजोर विद्यार्थी भी उनके विषय को सहजता से समझ जाता। यह अलासिंगजी का बड़प्पन ही था कि, विद्यालय समय में विद्यार्थीयों को पढ़ने के अतिरिक्त समय में भी उनका मार्गदर्शन किया करते। उनकी दृष्टि में विद्यार्थी उनके लिये ईश्वर के समान था तथा पढ़ाना ईश्वर की पूजा थी। यही कारण था कि अलासिंगजी अपने विद्यार्थीयों के बीच अत्यन्त आदरणीय शिक्षक थे। एक आदर्श शिक्षक के रुप में ही उनका यश सम्पूर्ण चैन्नई में फैल चुका था।

युगनायक

Rs.40.00
युगनायक
युगनायक
Translator: 
Prof. Manisha Bathe
VRM Code: 
1744
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
84
Volumes: 
1

प्रा. शैलेन्द्रनाथ धर का योगदान

बच्चों के स्वामीजी (Bachchon Ke Swamiji)

Rs.10.00
बच्चों के स्वामीजी (Bachchon Ke Swamiji)
बच्चों के स्वामीजी (Bachchon Ke Swamiji)
VRM Code: 
1660
Format: 
Soft Cover
Pages: 
35
Volumes: 
1
बच्चों के स्वामीजी (Bachchon Ke Swamiji)
बच्चों के स्वामीजी (Bachchon Ke Swamiji)

स्वामी विवेकानन्द के जीवनी बच्चो के लिये।

एकनाथजी

Rs.100.00
एकनाथजी
Translator: 
Sunita Paranjape
VRM Code: 
1627
Publication Year: 
2003
Edition: 
3
Format: 
Soft Cover
Pages: 
264
Volumes: 
1
एकनाथजी

यह कृति विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक, माननीय श्री एकनाथजी रानडे के चरणों में उनकी २९ वीं पुण्यतिथि पर केन्द्र के एक वरिष्ठ जीवनव्रती कार्यकार्ता द्वारा, उनके चरणों में किया गया नम्र निवेदन है। लम्बे समय से श्री एकनाथी की जीवनी की आवश्यकता का अनुभव किया जा रहा था। यह आवश्यकता, केवल केन्द्र - कार्यकार्ताओं और शुभचिंनकों द्वारा ही अनुभव नहीं की जा रही थी, अपितु उन्हें व्यक्तिगत रुप से जाननेवाले व विवेकानन्द शिला स्मारक तथा केन्द्र - कार्य के माध्यम से संपर्क में आए उनके प्रशंसकों की भी यही इच्छा थी। हम यह दावा नहीं करते कि यह श्री एकनाथजी की समग्र जीवनी हेतु एक अनुकूल प्रस्तावना व सुयोग्य परि

स्वामी विवेकान्द समग्र चरित्र (A Comparehensive Biography of Swami Vivekananda)

Rs.1,500.00
स्वामी विवेकान्द समग्र चरित्र (A Comparehensive Biography of Swami Vivekananda)
स्वामी विवेकान्द समग्र चरित्र (A Comparehensive Biography of Swami Vivekananda)
VRM Code: 
3041
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
2300
Volumes: 
3
Language: 
Marathi
स्वामी विवेकान्द समग्र चरित्र (A Comparehensive Biography of Swami Vivekananda)
स्वामी विवेकान्द समग्र चरित्र (A Comparehensive Biography of Swami Vivekananda)

Original Book is in English. Marathi translation of Comprehensive Biography of Swami Vivekananda will seclude on 11 Sept 2013 .
Pre-Subscription price is 900 (750 + 150 Postage charge) Pre-Subscription offer will be ended in July.
Contact for further information :

Vivekananda Kendra Marathi Prakashan Vibhag

‘Nishta’, 21, Sadashiv Peth, Opp. Pune Hospital Pune-411 030
Shri Dhananjayji : 94226-49239

Syndicate content