Kid Section

क्रीड़ा योग

Rs.50.00
क्रीड़ा योग
Translator: 
Sandhya Kumari
Publication Year: 
2016
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
126

श्री (स्वर्गीय) दत्ताराम पोळ जो कि विवेकानन्द केन्द्र के वानप्रस्थी कार्यकर्ता रह चुके हैं, अन्य संगठनात्मक गुणों के साथ विभिन्न खेल सीखने के माध्यम से शिविरार्थियों में उनकीछाप विशेष रूप से थी ।
वे वृद्धावस्था में भी युवा का जोश रखते थे और युवाओं में विशेषरूप से प्रचलित थे । यह पुस्तक 'क्रीड़ा योग' उन्हीं की देन है - जिन खेलों से न केवल शरीर ही चुस्त होगा बल्कि मन भी आनन्दित होगा ।
1 : सामूहिक क्रीड़ा
2 : मण्डल क्रीड़ा
3 : एक पंक्ति क्रीड़ा
4 : दो पंक्ति क्रीड़ा
5 : गृहस्थित क्रीड़ा







Indian Education: Genesis, Growth, Development and Decline

Rs.75.00
Indian Education: Genesis, Growth, Development and Decline
ISBN: 
81-89248-102-37
Publication Year: 
2014
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
159
Language: 
English
VRM Book Code: 
1791
Indian Education: Genesis, Growth, Development and Decline

Mitranno aani Maitrininno Bhag -1 (मित्रांनो आणि मैत्रिणींनो भाग १)

Rs.40.00
Mitranno aani Maitrininno Bhag -1 (मित्रांनो आणि मैत्रिणींनो भाग १)
Mitranno aani Maitrininno Bhag -1 (मित्रांनो आणि मैत्रिणींनो भाग १)
Publication Year: 
2013
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
64
Language: 
Marathi
VRM Book Code: 
3074
Mitranno aani Maitrininno Bhag -1 (मित्रांनो आणि मैत्रिणींनो भाग १)
Mitranno aani Maitrininno Bhag -1 (मित्रांनो आणि मैत्रिणींनो भाग १)

Eknath Ranade

Rs.20.00
Eknath Ranade
Publication Year: 
2015
Edition: 
1
Format: 
Soft Cover
Pages: 
32
Volumes: 
1
Language: 
English
Eknath Ranade

Mitranno aani Maitrininno Bhag 2 (मित्रानो आणि मैत्रिणिनो भाग २)

Rs.40.00
Mitranno aani Maitrininno Bhag 2 (मित्रानो आणि मैत्रिणिनो भाग २)
Mitranno aani Maitrininno Bhag 2 (मित्रानो आणि मैत्रिणिनो भाग २)
Publication Year: 
2013
Format: 
Soft Cover
Pages: 
64
Language: 
Marathi
VRM Book Code: 
3075
Mitranno aani Maitrininno Bhag 2 (मित्रानो आणि मैत्रिणिनो भाग २)
Mitranno aani Maitrininno Bhag 2 (मित्रानो आणि मैत्रिणिनो भाग २)

प्रेरक परिचय

Rs.35.00
Preak Parichay(प्रेरक परिचय)
Translator: 
Nivedita Raghunath Bhide
Publication Year: 
2007
Edition: 
3
Format: 
Soft Cover
Pages: 
56
Language: 
Hindi
VRM Book Code: 
1709
Preak Parichay(प्रेरक परिचय)

यह काम तुम्हें शोभा नहीं देता - बषपन से ही यह वाक्य हमें अनुशासित करता आया है। माँ ने हमें इसी तरह अपने लिए योग्य कर्म करने की शिक्षा दी और अयोग्य कर्म करने से परावृत किया। भगवान् श्री कृष्ण ने भी रण से पलायन करने के इच्छुक अर्जुन को इन्हीं शब्दों से लताड़ा था। हमारा कर्म ही हमारा परिचय बनता है। कर्म में कुशलता को प्राप्त करने के लिए ही हम सदैव प्रयत्न करते रहते हैं।

VINAYAGAR(விநாயகர்)

Rs.15.00
VINAYAGAR(விநாயகர்)
VINAYAGAR(விநாயகர்)
Publication Year: 
2011
Edition: 
2
Format: 
Soft Cover
Pages: 
52
Language: 
Tamil
VRM Book Code: 
1921
VINAYAGAR(விநாயகர்)
VINAYAGAR(விநாயகர்)

संस्कार वर्ग मार्गदर्शिका

Rs.10.00
सस्कार वर्ग मार्गदर्शिका
Publication Year: 
2008
Edition: 
3
Format: 
Soft Cover
Pages: 
64
Volumes: 
1
VRM Book Code: 
1916
सस्कार वर्ग मार्गदर्शिका
Syndicate content